दारू पीने के बाद युवक ने किया उत्पात करने से इंकार , फ्लैट वालों ने काला जादू का लगाया आरोप ।

दारु पी के दांत दिखाते श्री अनिमेष की प्रोफाइल पिक्चर

पुणे निवासी श्री अनिमेष जो कि एक IT कंपनी में काम करने की एक्टिंग करते हैं, अपने आदत के विरुद्घ दारू पीने के बाद किसी प्रकार का उत्पात नही करते पाए गए ।
इस सनसनी घटना पे

उनके साथ कमरा साझा करने वाले पीयाक श्री निरंजन से जब पूछ-ताछ की गयी तो उन्होंने गुटखा थूकते हुए कहा कि ऐसा पिछले 4 साल में पहली बार हुआ है जब अनिमेष ने दारु पीने के पश्चात् किसी प्रकार की हुरदंग ना की हो ।

गौर करने की बात ये है कि अनिमेष इस बार बाथरूम के जगह अपनी बिस्तर पर सोते पाए गए । उनके इस हरकत के वजह से उनके फ्लैट में काफी मायूसी छा गयी है । अब उन्हें यही डर है कि उनका हर सप्ताहांत में उन लोगों का मनोरंजन कौन करेगा ? दीवाल से बात , सेल्फ – स्टार्ट बाइक पे किक खोजना और हाथ में ग्लास लेकर अपना पेग खोजना , कौन करेगा ?

इन सवालों का जवाब तो सिर्फ अनिमेष ही दे सकते हैं

सुबह होने पर ये खबर पूरे हिंजेवाड़ी के दरुआहा समूह में आग के तरह फैल गयी । उनके फ्लैट के बाहर शुभचिंतकों की कतार लगी हुई है । सूत्रों से पता चला है कि अनिमेष जी पर काला जादू किये जाने की संभावना है ।

समाचार लिखे जाने तक श्री अनिमेष का ईलाज खैनी वाले बाबा के पास शुरू हो चुका था ।

रिपोर्टर – शिवा गाँधी
कैमरा मैन – नितिन कमल

काम खत्म कर शुक्रवार को समय से निकला प्राइवेट कंपनी का कर्मचारी , मैनेजर ने की निंदा , कर्मचारियों ने पुतले जलाए |

बैंगलोर के आई.टी.पी.एल. के एक कंपनी जिसका नाम गोपनीय रखा गया है वहां से खबर आई है की बीते शुक्रवार को एक कर्मचारी को शाम पांच बजे ऑफिस से निकलते देखा गया है |

शाम की चौथी चाय पी के वापस आते समय अरविन्द ने जब केशव को बैग टाँग के ऑफिस से निकलते देखा तो उनके कदमों के नीचे से जमीन खिसक गई |
दो चाय और पीने के बाद जब अरविन्द अपने स्थान पे लौटे तोह वहां केशव को ना देख उन्हें गहरा सदमा लगा |

मैनेजर श्री राजीव शर्मा ने केशव के इस कदम के कड़ी निंदा की और बैग उठा के गुस्से मैं चम्पत हो गए , बाद मैं उन्हें मैक डॉनल्ड्स मे बर्गर लपेटते देखा गया |

केशव के प्रिये मित्र बंटी ने बताया की केशव काफी मेहनती और गुणकारी लड़का था लेकिन इसका ये मतलब नहीं की वो समय से पांच घंटे पहले काम खत्म कर ले | पुतला गैंग के नेता श्री धीरज ने बिना कुछ जाने-समझे ही दो पुतलों का आर्डर दे दिया , शाम को पुतले जलने के साथ-साथ समोसों की व्यवस्था देख बाकी कर्मचारियों में भी ‘फन फ्राइडे ‘ को ले के विश्वास वापस से जाग उठा है |

मौके पे मौजूद लोगो ने बताया की शुक्रवार को जल्दी घर जाना एक गलत विचारधारा है जिससे कर्मचारियों में ‘घर पे ज्यादा समय देने ‘ और ‘वर्क -लाइफ बैलन्स ‘ जैसे विचार पैदा होते हैं | पुतला जलाने के बाद सभी कर्मचारियों ने शनिवार और रविवार को भी ऑफिस आने का वादा किया है

केशव की सभी छुट्टियाँ और दो महीने की तनख्वाह काट ली गई है |

रिपोर्टर – नितिन कमल

पढाई कर परीक्षा देने पंहुचा बैकबेंचर , शिक्षकों मे उत्साह लेकिन टोपर बच्चों ने की धुनाई |

बैक बेंचेर की पिटाई करने के बाद उत्साहित टॉपर

बिहार के पटना जिला के दानापुर इलाके की एक घटना ने सबको चौंका दिया है | सूत्रों के अनुसार ज्ञान निकेतन स्कूल के सातवीं के छात्र रामानंद तिवारी जिन्हे पिछले सात सालोँ में  कुल मिला के चालीस नंबर आए हैं, उनके बैग से साइंस की पुस्तक और क्लासमेट के चार पेज लिखे जाने की खबर है | बताया ये भी जाता है की रामानंद को पिछले रात पढ़ते हुए भी देखा गया था  |

परीक्षा सात जून को थी और वहां भी रामानंद को चीट बनाते देखा गया , उनके इस साहसी कदम से टीचर्स में  उमंग की लहार दौड़ गई | प्रिंसिपल श्री डी.के. मुखर्जी ने कैंटीन से समोसे और जलेबिया वितरित की |

रामानंद के इस प्रदर्शन को देखते हुए कुछ छात्र नाराज भी दिखे , क्लास एक मात्र नब्बे प्रतिशत लाने वाले छात्र अमन ने मौके पे ही रामानंद की कुटाई कर दी | पूछे जाने पे अमन ने गालियों के अलावा और कोई बयान नहीं दिया और अपना बेल्ट दिखते हुए स्कूल से भाग गए |

अमन की तलाश जारी है और रामानंद को पटना के हॉस्पिटल में इलाज किया जा रहा है , गौर करने की बात ये भी है की इलाज उनके चोटों का नहीं उनके दिमाग का किया गया है |

रामानंद के घनिस्ट दोस्तों ने उसके इस घिनौने कदम का जम कर आलोचना किया है और विरोध में सारी किताबें जलाने के बाद हेडमास्टर का सिर भी फोड़ दिया |

रिपोर्टर –  नितिन कमल